मन का स्वाभाव

मन का स्वाभाव ..... मन हमेशा एक भिकारी की तरह माँग करता रहता है ...और उसका सुनते रहनेसे तुम खुद भी उसके जैसे हो जाते हो .... हाला की ये…

Continue Reading
Close Menu
×
×

Cart

WhatsApp chat